सशक्त भारत की बानगी है सीमा की गतिविधियाँ : मोदी

 

सशक्त भारत की बानगी है सीमा की गतिविधियाँ : मोदी

नई दिल्ली, एजेंसियां: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि आज का भारत आत्मविश्वास से भरा है और यही इसकी सबसे बड़ी पूंजी है। यह आत्मविश्वास सीमा की गतिविधियों और भू-स्थानिक डाटा को उदार बनाने के सरकार के फैसले में नजर आता है। मोदी नैस्कॉम टेक्नोलॉजी एवं लीडरशिप फोरम को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित कर रहे थे।
पीएम ने ये बातें ऐसे समय में की हैं. जबकि 10 माह के तनाव के बाद चीन को पूर्वी लद्दाख की चोटियों से अपने सैनिकों को वापस बुलाने पर मजबूर होना पड़ा है। ऐसा भारत से सख्त जवाब मिलने की वजह से ही हुआ है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आत्मविश्वास बहुत बड़ी संपत्ति है। आज भारत आत्मविश्वास से लबरेज है। हम सीमा पर इसकी बानगी देख रहे हैं।’ हालांकि, उन्होंने चीन का जिक्र नहीं किया।
मोदी ने कहा, पहले सुरक्षा संबंधी चिंताएं सरकार के फैसले लेने में सबसे बड़ी रुकावट थीं। इन चिंताओं ने ही सरकार को मैपिंग और भू-स्थानिक डाटा तक पहुंच को उदार बनाने के उपाय करने से रोक रखा था। पीएम ने कहा,मैपिंग और भू-स्थानिक डाटा को उदार बनाने का फैसला सिर्फ प्रौद्योगिकी तक ही सीमित नहीं है, न ही इसे एक अन्य प्रशासनिक सुधार के रूप में लिया जाना चाहिए, जहां से सरकार किसी एक क्षेत्र से बाहर निकल गई है। ‘यह फैसला भारत की क्षमता का उदाहरण है। भारत को भरोसा है कि इस फैसले के बाद भी हम अपनी सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं और देश के युवाओं को विश्व मंच पर उत्कृष्ट प्रदर्शन का अवसर दे सकते हैं।’ मोदी ने कहा, इस फैसले से स्टार्टअप को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। इससे सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र को मदद मिलने के साथ ही आत्मनिर्भर
भारत मिशन को भी मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा,स्टार्टअप संस्थापकों को सिर्फ कंपनी की कीमत बढ़ाने पर नहीं, बल्कि उसको संस्थागत रूप देने पर भी ध्यान देना चाहिए। मोदी ने कहा, आज दुनिया भारत की तरफ बहुत उम्मीद के साथ देख रही है और भारत को अपने नागरिकों की प्रतिभा पर भरोसा है।
ज्ञात हो, दो दिन पहले ही सरकार ने मैपिंग नीति में व्यापक बदलाव करते हुए भू-स्थानिक डाटा के अधिग्रहण और उत्पादन को नियंत्रित करने वाली नीतियों को उदार बनाने की घोषणा की थी। इससे सरकारी व निजी भारतीय संस्थाओं को मैपिंग, भू-स्थानिक आंकड़ों के अधिग्रहण के लिए पहले से मंजूरी लेने, सुरक्षा मंजूरी, लाइसेंस की जरूरत नहीं होगी।
सशक्त भारत की बानगी है सीमा की गतिविधियाँ : मोदी
सशक्त भारत की बानगी है सीमा की गतिविधियाँ : मोदी
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *